Keyboard क्या होता है ? keyboard कितने प्रकार के होते है ?

नमस्कार दोस्तों, अभी तक हमने कंप्यूटर, software, हार्डवेयर के बारे में समझ लिया है अब हम कंप्यूटर का एक और महत्वपूर्ण Part keyboard के बारे में जानेंगे ! इस पोस्ट में हम आपको keyboard क्या होता है? keyboard किस तरह का डिवाइस होता है, keyboard में बटन के बारे में पूरी जानकारी बताने वाले है और साथ ही keyboard कितने प्रकार के होते है यह भी बताने वाले है ! अगर आप keyboard के बारे में नहीं जानते है तो हमारी इस पोस्ट को आखिरी तक जरुर पढ़े !
keyboard-keys-aur-keyboard-ke-prakar-ki-jankari

Keyboard क्या होता है | What is Keyboard in Hindi |

keyboard जेसा कि इसके नाम से पहचाना जा सकता है कि keyboard एक ऐसा डिवाइस जिसमे keys लगी होती है ! keyboard एक इनपुट डिवाइस होता है! keyboard कंप्यूटर के लिए सर्वाधिक उपयोग में लाया जाने वाला इनपुट डिवाइस होता है ! कंप्यूटर के keyboard का प्रारूप टाइपराइटर के keyboard के सामान ही होता है ! वर्तमान में प्रचलित keyboard को QWERTY कहा जाता है ! इसका यह नाम keyboard के बाई और कि ऊपर कि पंक्ति के प्रथम छः शब्दों से मिलकर बना होता है, QWERTY keyboard के अतिरिक्त अन्य keyboard भी उपलब्ध होते है जैसे कि – Dvorak, AZERTY keyboard. एक keyboard पर टाइपराइटर कि सभी keys के साथ-साथ कुछ विशिष्ट keys भी होती है ! keyboard कि keys उपयोग के आधार पर इन्हें कुछ अलग-अलग नामो में बांटा जाता है !

keyboard के बटन/स्विच के नाम Name of the Keyboard Keys in Hindi?

Alphanumeric Key:- A से लेकर Z, 1 से लेकर 0 तथा स्पेस बार इस समूह में आते है ! keyboard में इसके अतिरिक्त एक नुमेरिक पेड भी होता है जिसे अंक ( Number ) इन्पुटर करने के लिए किया जाता है ! Num lock को Num lock key से कण्ट्रोल यानि कि ऑन/ऑफ किया जाता है !

Enter key:- टेक्स्ट एप्लीकेशन में इसके द्वारा पैराग्राफ अथवा लाइन को ख़तम करने में किया जाता है ! डाटा एप्लीकेशन में यह किसी फील्ड में डाटा इनपुट ख़त्म होने को प्रदर्शित करती है !

Arrow key:- keyboard में4 एरो बटन होते है जिनका उपयोग एक अक्षर या लाइन पर आगे-पीछे व ऊपर निचे करने के लिए किया जाता है !

Cursor keys:- कर्सर को चलाने  के लिए keyboard में कर्सर keys होती है! home और end key का उपयोग किसी लाइन के शुरू तथा अंत में जाने के लिए किया जाता है ! Page up/down key के द्वारा कर्सर को एक पेज अथवा स्क्रीन को ऊपर निचे करने के लिए किया जाता है !

Function Keys:- यह 12 keys होती है विभिन्न प्रोग्राम में इसका उपयोग अलग-अलग तरीको से होता है ! यह F1 से F12 तक होती है !

Back Space/delete key:- इस key का उपयोग back ( पीछे ) जाने के लिए किया जाता है इस बटन कि मदद से लिखे हुए वर्ड को डिलीट किया जा सकता है !

Shift key:- इस key का उपयोग शब्दों को capital (A B C ) लिखने में किया जाता है अगर हम शिफ्ट के साथ कोई बटन दबाते है तो वो शब्द capital में शो होगा और इसका उपयोग alphanumeric key के ऊपर लगे हुए चिन्ह को लगाने में किया जाता है !

Tab key:- इस key का प्रयोग प्रोग्राम में एक बॉक्स से दुसरे बॉक्स में जाने के लिए किया जाता है और टेक्स्ट डॉक्यूमेंट में इस key का प्रयोग अधिक स्पेस देने के लिए किया जाता है !

Caps lock key:- अगर हम इस key को ऑन कर देते है तो सभी alpha word capital में टाइप होंगे !

Ctrl key:- इस key का उपयोग मल्टीप्ल object को सेलेक्ट करने में और shortcut key के रूप में इसका उपयोग किया जाता है !

Alter key:- Alter key  का उपयोग file and folder के विकल्प को खोलने में application में  shortcut के रूप में इसका उपयोग होता है !

Windows key:- windows key का उपयोग start menu ओपन करे और windows shortcut key के साथ में इसका उपयोग किया जाता है !

Num lock key:- keyboard के राईट साइड के numeric कीपैड को चलने के लिए हमे इस बटन या lock key को ऑन करना होता है इसके बाद ही हम इस पेड का उपयोग कर सकते है !

Keyboard कितने प्रकार के होते है ? Types of Keyboard  

मेम्ब्रेन कीबोर्ड्स:- यह keyboard सबसे अधिक उपयोग किये जाने वाला keyboard है इसकी रचना कुछ इस प्रकार होती है कि साडी keys रबर डोम के ऊपर लगी होती है, यह एक त्रि-स्तरीय, प्लास्टिक कि झिल्ली के ऊपर अवस्थित होता है, यह झिल्ली पुरे keyboard फेली होती है जब भी कोई यूजर key दबाता है तो रबर डोम के ऊपर स्थित संपर्क बिंदु, झिल्ली कि उपरी सतह को मध्य के छिद्र में दबाकर निचली सतह से स्पर्श करता है, जिससे उनमे स्थित electricity सर्किट पूर्ण हो जाता है ! इससे उत्पन्न होने वाले संकेत को कंप्यूटर पर भेज दिया जाता है !

मैकेनिकल कीबोर्ड्स:- यह keyboard मेम्ब्रेन keyboard के समान प्रत्येक key हेतु एक ही माध्यम के स्थान पर स्वतन्त्र स्विच का प्रयोग किया जाता है ! सामान्यतः मैकेनिकल keyboard में, एक धातु कि स्प्रिंग या इसके सद्रश्य अन्य किसी माध्यम का प्रयोग key कि गति को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है ! यह मेम्ब्रेन keyboard में महंगा होता है और इसका प्रयोग तेज गति में टाइप करने वाले typist करते है !

आपको हमारी यह पोस्ट केसी लगी हमे कमेंट करके जरुर बताये और इसे अपने दोस्तों के साथ share भी जरुर करे . 


No comments:

Post a Comment

Apna Comment Kare